HomeNEWSक्यों डूबे UST और LUNA, पढ़ें ये खास रिपोर्ट

क्यों डूबे UST और LUNA, पढ़ें ये खास रिपोर्ट

-

Follow us

13,967FollowersFollow

 

किसी ने नहीं सोचा था कि एक स्टेबलकॉइन के प्रभाव से पूरे क्रिप्टोकरेंसी बाजार में गिरावट आ जाएगी। मगर दुर्भाग्य से 11 मई को LUNA और UST में भारी गिरावट की खबर ने क्रिप्टो की दुनिया को हिलाकर रख दिया। Terra प्रोटोकॉल का एल्गोरिथम आधारित स्टेबलकॉइन UST के मूल्य में 54.36 फीसदी गिरावट आई। इसका मूल्य अब करीब 12 रुपये रह गया है। वहीं, इकोसिस्टम की एक और क्रिप्टोकरेंसी LUNA भी एक हफ्ते के भीतर 99.9 फीसदी तक गिर गई। खबर लिखे जाने तक इसका मूल्य महज 0.0029 रुपये रह गया है।

आखिर में ये सब क्या हुआ, ये समझने के लिए UST और LUNA टोकन के बीच के संबंध को जानना जरूरी है। इतनी मुश्किलों के बावजूद UST के डॉलर के मुकाबले 1:1 के स्तर पर अपना वजूद बनाए रखने की उम्मीद है। स्टेबलकॉइन होने के बावजूद, UST मूल्य में स्थिरता देने की उम्मीद के मुकाबले तेजी से गिर गया।

UST और LUNA के बीच संबंध और संकट की शुरुआत

ये तूफान पहली बार पिछले शनिवार को आया, जब UST एक डॉलर से नीचे गिर गया। इसके बादृ क्रिप्टो क्षेत्र में सामान्य गिरावट हुई और यह लगभग 0.9955 डॉलर पर कारोबार करने लगा। डॉलर के मुकाबले UST गिरने का एक सीधा कारण इसके रिजर्व में बिटकॉइन के भारी प्रभुत्व का परिणाम है। जब बिटकॉइन में गिरावट हुई तो, UST का मूल्य भी कम हुआ, जिससे इसकी स्थिरता प्रभावित हुई।

UST और LUNA के बीच सीधे संबंध हैं, क्योंकि ये दोनों Terra प्रोटोकॉल के मुख्य टोकन हैं। रिश्ते की बेहतर समझ के लिए, मान लें कि Terra इकोसिस्टम में UST और LUNA के लिए एक-एक पूल हैं। नया LUNA मिंट करने के लिए मिंटर्स को UST को बर्न करना होगा और नया UST मिंट करने के लिए उन्हें LUNA को बर्न करना होगा। यह Terra प्रोटोकॉल के एल्गोरिथम मार्केट मॉड्यूल के इंसेंटिव सिस्टम की वजह से है।

साथ ही यह सिस्टम UST को फिएट, गोल्ड और अन्य भौतिक संपत्तियों द्वारा समर्थित दूसरे स्टेबलकॉइन्स से अलग बनाता है। मान लें कि UST की कीमत 1.01 डॉलर के बराबर है, तो ट्रेडर्स एक डॉलर मूल्य के LUNA को 1 UST के बदले में एक्सचेंज करते हैं। Terra स्टेशन का इस्तेमाल करते हुए यह सिस्टम 1 UST मिंट करने के लिए 1 डॉलर मूल्य के LUNA को बर्न कर देगा।

फिर, ट्रेडर्स अपने 1 UST को 1.01 डॉलर के बदले में एक्सचेंज कर सकते हैं और उन्हें 0.01 डॉलर का फायदा होगा। यही बात LUNA पर भी लागू होती है। UST को पेग (Peg) के अंतर के आधार पर ट्रेडर्स को फायदा दिलाने के लिए डिजाइन किया गया है। इसके पास बैकअप के रूप में LUNA है, अगर डॉलर के मुकाबले UST कमजोर होता है, तो ट्रेडर्स LUNA के लिए UST को बर्न कर सकते हैं। इस तरह इस प्रक्रिया के जरिए उन्हें फायदा मिलता है।

इस स्थिति से निपटने के लिए अब तक किए गए प्रयास

LUNA ने डैमेज कंट्रोल के लिए 1.5 अरब डॉलर के बिटकॉइन और UST को अपने रिजर्व में डाला है। Terra का मानना है कि इस तरह के फंड रखने से बाजार में हो रहे उतार-चढ़ाव से UST को बचाया जा सकता है। आपको बता दें कि रिजर्व पूल में बिटकॉइन का प्रभुत्व था और इसके मूल्य में गिरावट आने के बाद फंड से बड़ी राशि कम हो गई है। अब तक बिटकॉइन में भी भारी गिरावट हो रही है और Luna का मानना है कि स्वीकृत लोन के जरिए पूल के जरूरी बैलेंस बनाए रखने में मदद मिलेगी।

इसके अलावा, Luna ने सप्लाई को कम करने में पेग मैकेनिज्म को बढ़ाने के लिए बेस पूल को 50 मिलियन से बढ़ाकर 100 मिलियन करने की मंजूरी दी। वेंचर ने पूल रिकवरी ब्लॉक को भी 36 से घटाकर 18 करने की घोषणा की। इनके मुताबिक इससे मिंटिंग क्षमता 293 मिलियन डॉलर से बढ़कर 1200 मिलियन डॉलर हो सकती है। Luna ने माना कि रीपेग शुरू करने के लिए $UST की स्टेबलकॉइन सप्लाई को कम करने की जरूरत है।

फर्म ने गुरुवार को ऑन-चेन स्पेड की हालत सुधारने के लिए कई कदम उठाए। जैसा कि पता चला, Prop 1164 पहले बेस पूल के आकार को बड़ा करेगा और फिर UST की बर्न रेट को तेज करेगा। Luna के मुताबिक इससे ऑन-चेन स्प्रेड कम करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा, फर्म कम्युनिटी पूल के बचे हुए UST और एथेरियम क्रॉस चेन के 37 करोड़ UST को बर्न करना चाहता है।

टीम की अन्य कोशिशें

नेटवर्क गर्वनेंस से होने वाले हमलों से बचने के लिए 24 करोड़ $LUNA को दांव पर लगाने की घोषणा की गई। वेंचर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर बताया कि वह कुछ महीने पहले एथेरियम पर लिक्विडिटी इंसेंटिव के तौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले बचे हुए UST को पोर्ट करने की योजना बना रहा था। 37 करोड़ UST के इंसेंटिव Terra को वापस कर दिए जाएंगे और फिर वे बर्न मॉड्यूल के जरिए बर्न हो जाएंगे। हालांकि यह फैसला गवर्नेंस प्रपोजल के नतीजे तक लंबित ही रहा।

खबर लिखे जाने तक Terra बचे हुए UST को बर्न करने के लिए सही प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करना चाहता है। अब, वह 1,388,233,195 UST की सप्लाई खत्म करने जा रहा है। यह संख्या बकाया UST सप्लाई की 11 फीसदी है। Terra सिस्टम से डूबत ऋण (Bad Debts) को हटाने का आश्वासन दे रहा है।

UST और LUNA के डूबने से स्टेबलकॉइन मार्केट पर प्रभाव

Terra के वैलिडेटर ने नेटवर्क पर गर्वनेंस हमलों से बचने के लिए ब्लॉक उत्पादन रोक दिया। हालांकि, दो घंटे बंद रहने के बाद इसे फिर से चालू कर दिया गया।

बाजार में आई अस्थिरता से एक ब्रिटिश यूट्यूबर JJ Olatunji को महज 24 घंटे में 28 लाख डॉलर Terra का नुकसान हो गया। यूट्यूबर ने गुरुवार को बताया कि एक दिन के भीतर उसका 28 लाख डॉलर का निवेश गिरकर महज 1000 डॉलर रह गया। बता दें कि UST ने हाल ही में अपनी स्थिरता खो दी और इससे संबंध होने के चलते LUNA पर भी इसका प्रभाव पड़ा।

UST और LUNA की निराशाजनक स्थिति ने नियामकों का ध्यान आकर्षित किया है। अमेरिका की ट्रेजरी सेक्रेटरी Janet Yellen ने फिर से स्टेबलकॉइन के विनिमयन की मांग उठाई। Yellen ने कहा कि Terra और Tether स्टेबलकॉइन से जुड़े जोखिम को दर्शाते हैं।

उन्होंने संकेत दिया कि स्टेबलकॉइन पर खास असाइनमेंट पूरा होने पर इसका विनिमयन हो जाएगा। उनकी टिप्पणी से स्टेबलकॉइन के रेगुलेशन को लेकर नया ट्रेंड शुरू होगा। Binance ने भी UST और LUNA की वैल्यू 0.005 USDT से नीचे जाने के बाद इन्हें डिलिस्ट करने की घोषणा की। यह फैसला ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के दोनों टोकन की निकासी रोकने के बाद आया।

Most Popular